सैकड़ों बीघा फसलें हुई बर्बाद, असम में चक्रवात सितरंग से 83 गांवों के 1100 से ज्यादा लोग प्रभावित,

(एन एल एन मीडिया – न्यूज़ लाइव नाऊ) : चक्रवात सितरंग के चलते पश्चिम बंगाल के 24 परगना में बक्खाली समुद्र तट पर ज्वार की सूचना दी गई है। सिविल डिफेंस के लोगों ने पर्यटकों और स्थानीय लोगों को समुद्र से दूर रहने के लिए कहा है, साथ ही इलाके में चेतावनी भी जारी की है। भारतीय मौसम विभाग की ओर से मंगलवार को दी गई जानकारी के मुताबिक चक्रवात ‘सितरंग’ पश्चिम बंगाल तट को पार करते हुए बरिसाल के निकट बांग्लादेश तट से टकराया है। जिससे भारत में चक्रवात सितरंग कुछ कमजोर पड़ गया, लेकिन कई राज्यों में अलर्ट जारी किया गया है।
अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक चक्रवात के कारण करीब 325.501 हेक्टेयर फसलों को नुकसान पहुंचा है। सोमवार रात आए चक्रवाती तूफान के कारण राज्य के नगांव जिले के विभिन्न हिस्सों में कई पेड़ और बिजली के खंभे भी उखड़ गए। रिपोर्टों के अनुसार, तूफान के कारण मध्य असम जिले के कलियाबोर, बामुनि, सकमुथिया चाय बागान और बोरलीगांव क्षेत्रों में कई घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं।
असम में चक्रवात सितरंग के चलते स्थिति चिंताजनक बनी हुई है। यहां चक्रवात के कारण करीब 83 गांवों के 1100 से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। चक्रवात के चलते हुई भारी बारिश में बड़ी तादाद में घरों को नुकसान पहुंचा है। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक तूफान से अब तक 1146 लोग प्रभावित हुए हैं।
फिलहाल किसी तरह की जनहानि नहीं, चक्रवात के चलते भारी तबाही के बीच राहत की खबर यह है कि, अभी तक किसी जनहानि की सूचना नहीं दी गई है। प्रभावित गांव के मुखिया द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, क्षेत्र में अभी तक तूफान से किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। उन्होंने बताया कि कलियाबोर क्षेत्र में तूफान से कई घर क्षतिग्रस्त हो गए और कई पेड़ उखड़ गए। एक सरकारी ग्राम प्रधान के रूप में, मैंने पूरे गांव का दौरा किया है और मैं अपने सर्कल अधिकारी को नुकसान की रिपोर्ट सौंपूंगा।

Leave A Reply